National News

zilingo pte fashion platform has now valuation worth usd 1billion | जिलिंगो ने 1605 करोड़ रु की फंडिंग जुटाई, 4 साल में 6900 करोड़ रुपए हुई वैल्यू


  • फाउंडर अंकिति बोस की उम्र 27 साल, वो सबसे कम उम्र की महिला सीईओ में शामिल
  • अंकिति ने 24 साल की उम्र में कंपनी शुरू की थी, पिछले साल फोर्ब्स की अंडर-30 एशिया लिस्ट में शामिल हुईं

बेंगलुरु. अंकिति बोस (27) के ऑनलाइन फैशन स्टार्ट-अप जिलिंगो ने दो निवेशकों से 1604.6 करोड़ रुपए (22.6 करोड़ डॉलर) की फंडिंग जुटाई है। कंपनी ने मंगलवार यह जानकारी दी। इस फंडिंग के बाद जिलिंगो की वैल्यू 6,887 करोड़ रुपए (97 करोड़ डॉलर) हो गई है। जिलिंगो दक्षिण-पूर्व एशिया के छोटे कारोबारियों को अपने प्रोडक्ट बेचने के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाती है। इसका हेडक्वार्टर सिंगापुर में है।

दुनिया के 239 स्टार्ट-अप में सिर्फ 23 की फाउंडर महिलाएं

  1. अंकिति उन सबसे कम उम्र की महिला सीईओ में शामिल हो गई हैं जो एशिया में करीब 1 अरब डॉलर की वैल्यू के स्टार्ट-अप को लीड कर रही हैं। इतनी वैल्यू वाले दुनियाभर के 239 स्टार्ट-अप में सिर्फ 23 की फाउंडर महिलाएं हैं। अंकिति पिछले साल फोर्ब्स की अंडर-30 एशिया लिस्ट में शामिल हो चुकी हैं।


    अंकिति।

     

  2. 4 साल में जिलिंगो 1 अरब डॉलर के वैल्यूएशन के करीब पहुंच गई है। अंकिति ने अप्रैल 2015 में इसकी शुरुआत की थी। उस वक्त वो 24 साल की थीं और स्टार्ट-अप में निवेश से जुड़ी फर्म सिक्योई इंडिया में एनालिस्ट की जॉब करती थीं। जिलिंगो में पहला निवेश सिक्योई ने ही किया था।


    अंकिति।

     

  3. दिसंबर 2014 में बेंगलुरु में एक घरेलू पार्टी के दौरान अंकिति की मुलाकात ध्रुव कपूर (28) से हुई। ध्रुव उस वक्त गेमिंग कंपनी किवी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे। बातचीत में दोनों ने महसूस किया कि दोनों अपना स्टार्ट-अप शुरू करना चाहते हैं।


    जिलिंगो के को-फाउंडर ध्रुव कपूर के साथ अंकिति।

     


  4. बचत के पैसे लगाकर शुरू की थी जिलिंगो

    4 महीने बाद अंकिति और ध्रुव ने नौकरी छोड़ दी और जिलिंगो पर काम शुरू कर दिया। दोनों ने अपनी 30-30 हजार डॉलर की बचत इसमें लगा दी। कपूर जिलिंगो में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर हैं।


     


  5. थाईलैंड में छुट्टियों के वक्त आईडिया मिला

    अंकिति के दिमाग में जिलिंगो का आईडिया उस वक्त आया जब वो 2013 में छुट्टियां बिताने थाईलैंड गईं थीं। उन्होंने नोटिस किया कि वहां कोई ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस उपलब्ध नहीं था।


    अंकिति।

     


  6. 13 करोड़ का सालाना रेवेन्यू

    जिलिंगो ने सिंगापुर में रेग्युलेटरी फाइलिंग में बताया कि मार्च 2018 को खत्म वित्त वर्ष में कंपनी के रेवेन्यू 12 गुना बढ़ा है। 31 मार्च 2017 को खत्म वित्त वर्ष में जिलिंगो का रेवेन्यू 13 करोड़ रुपए (18 लाख डॉलर) रहा था।


  7. 8 देशों में ऑफिस, 400 कर्मचारी

    थाईलैंड और कंबोडिया समेत जिलिंगो के आठ देशों में ऑफिस हैं। कंपनी के 400 कर्मचारी हैं। यह इंडोनेशिया, थाईलैंड और फिलीपींस में फैशन से जुड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट चलाती है। जल्द ऑस्ट्रेलिया में भी शुरू करने की योजना है।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.