World Cup 2019: England vs Bangladesh Head-to-Head Records and Stats for the 12th match | बांग्लादेश के खिलाफ 12 साल से टूर्नामेंट में नहीं जीता इंग्लैंड, दोनों के बीच कार्डिफ में मैच आज

0
5


  • टूर्नामेंट में आज दो मुकाबले, दूसरे मैच में अफगानिस्तान-न्यूजीलैंड आमने-सामने
  • मैच का प्रसारण दोपहर 3:00 बजे से स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर
  • इंग्लैंड को वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र जीत 2007 मिली थी
  • बांग्लादेश ने 2015 और 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड को हराया था

खेल डेस्क. वर्ल्ड कप में शनिवार को दो मैच होंगे। टूर्नामेंट का 12वां मुकाबला कार्डिफ के सोफिया गार्डन्स पर इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच होगा। टॉटन के काउंटी ग्राउंड पर होने वाले दूसरे मैच में अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड की टीमें आमने-सामने होंगी।

 

इंग्लैंड v/s बांग्लदेश : हेड टू हेड

 

वर्ल्ड कप में बांग्लादेश का पलड़ा भारी

वर्ल्ड कप में इंग्लैंड और बांग्लदेश के बीच अब तक 3 मैच हुए हैं। इनमें से इंग्लैंड सिर्फ एक ही जीत पाया है। बांग्लादेश के खिलाफ उसे आखिरी जीत 11 अप्रैल 2007 को ब्रिजटाउन के मैदान पर मिली थी। तब उसने बांग्लादेश को 4 विकेट से हराया था। बांग्लादेश ने 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड को 2 विकेट और 2015 में 15 रन से हराया था।

 

बांग्लादेश के खिलाफ इंग्लैंड का सक्सेस रेट 80%

ओवरऑल बात करें तो इंग्लैंड और बांग्लदेश के बीच अब तक 20 वनडे हुए हैं। इनमें से इंग्लैंड 16 और बांग्लादेश को 4 में जीत हासिल हुई है। बांग्लादेश को इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी जीत 9 अक्टूबर 2016 को ढाका के मैदान पर मिली थी। तब उसने मेहमान टीम को 34 रन से हराया था।

 

इंग्लैंड में 9 साल से नहीं जीता बांग्लादेश

इंग्लैंड ने घरेलू मैदान पर बांग्लादेश के खिलाफ 7 वनडे खेले हैं। इनमें से उसने 6 जीते हैं। एक में उसे हार का सामना करना पड़ा है। बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू मैदान पर इंग्लैंड की टीम पहली और आखिरी बार 10 जुलाई 2010 को ब्रिस्टल में हारी थी। तब पाकिस्तान ने उसे 5 रन से हराया था।

 

मौसम और पिच रिपोर्ट : सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक भारी बारिश होने की संभावना है। संभव है सूरज नहीं निकले। दिन का तापमान लगभग 13 डिग्री रहने की संभावना है। इस मैदान पर अब तक 22 वनडे खेले गए हैं। इनमें से सिर्फ 7 मैच में ही पहले खेलने वाली टीम जीती है। ऐसे में जो भी टीम टॉस जीतेगी वह गेंदबाजी चुनना पसंद करेगी। डकवर्थ लुईस नियम लागू होने पर भी बाद में खेलने वाली टीम फायदे में रहेगी।

 

इंग्लैंड की ताकत

 

जोस बटलर : इंग्लैंड के इस विकेटकीपर बल्लेबाज को 133 वनडे का अनुभव है। उनके 41.97 के औसत और 119.93 के स्ट्राइक रेट से 3652 रन हैं। उनका यह दूसरा वर्ल्ड कप है। पिछले एक साल में उन्होंने 24 वनडे की 18 पारियों में 64.30 के औसत और 126.85 के स्ट्राइक रेट से 836 रन बनाए हैं। उनके वनडे में कुल 9 शतक हैं। इसमें से 4 शतक पिछले एक साल में उन्होंने लगाए हैं।

 

जो रूट : इंग्लैंड का यह ओपनर टीम को मजबूत शुरुआत देने में सक्षम है। वे इस वर्ल्ड कप में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। उनका भी यह दूसरा वर्ल्ड कप है। उन्होंने पिछले वर्ल्ड कप में भी एक शतक लगाया था। उन्होंने पिछले 10 वनडे में 41.55 के औसत और 97.14 के स्ट्राइक रेट से 374 रन बनाए हैं। जो रूट ने अब तक 15 शतक लगाए हैं। इनमें से 4 शतक पिछले एक साल में लगाए हैं। 

 

इंग्लैंड की कमजोरी

 

गेंदबाजी में अनुभव की कमी : इंग्लैंड के गेंदबाजों में अनुभव की कमी है। उनका कोई भी गेंदबाज 100 वनडे नहीं खेला है। मार्क वुड ने 41, आदिल रशीद ने 89, लियम प्लंकेट ने 82, टॉम करन ने 17, क्रिस वोक्स ने 89 और आर्चर ने सिर्फ 5 वनडे खेले हैं।  इस वर्ल्ड कप में इंग्लैंड ने अपने अब तक के दोनों मैच में 300+ रन का स्कोर किया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तो उसके गेंदबाज 10 विकेट लेने में सफल रहे, लेकिन पाकिस्तान की पूरी टीम को पवेलियन नहीं भेज पाए थे।

 

बांग्लादेश की मजबूती

 

मुशफिकुर रहीम : टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम बांग्लादेशी टीम के ‘संकटमोचक’ माने जाते हैं। वे टीम को मुश्किल परिस्थितियों से निकालकर कई जीत दिला चुके हैं। रहीम ने 207 वनडे में 35.12 के औसत से 5655 रन बनाए हैं। पिछले एक साल में उन्होंने 23 मैच में 52.05 के औसत से 937 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने एक शतक लगाया। विकेटकीपिंग करते हुए उन्होंने 25 कैच भी लिए।

 

शाकिब अल हसन : वनडे में दुनिया के नंबर एक ऑलराउंडर शाकिब अल हसन अपने दम पर मैच जिताने का माद्दा रखते हैं। उन्होंने बांग्लादेश के लिए 200 मुकाबलों में 5856 रन बनाए हैं और 252 विकेट भी लिए हैं। पिछले एक साल में शाकिब ने 15 मैच में 51.08 के औसत से 613 रन बनाए। गेंदबाजी करते हुए 17 विकेट भी हासिल किए।

बांग्लादेश की कमजोरी

 

प्रदर्शन में निरंतरता की कमी : टीम के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है। उसने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने पहले मैच में 330 रन का स्कोर किया। लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे मैच में वह 244 रन पर ही ऑलआउट हो गई। उसके 7 बल्लेबाज 25 से कम के स्कोर पर आउट हुए। इंग्लैंड के खिलाफ यह गलती उसे भारी पड़ सकती है।

दोनों टीमें : 
इंग्लैंड : इयॉन मॉर्गन (कप्तान), जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जोस बटलर (विकेटकीपर), मोइन अली, क्रिस वोक्स, लियम प्लंकेट, जोफ्रा आर्चर, आदिल रशीद, टॉम करन, मार्क वुड, जेम्स विंस, लियम डॉसन।

बांग्लादेश : मशरफे मुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, लिटन दास, शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम (विकेटकीपर), सौम्या सरकार, शब्बीर रहमान, मेहदी हसन, महमूदुल्लाह, मुस्तफिजुर रहमान, रूबेल हुसैन, मोहम्मद सैफुद्दीन, मोहम्मद मिथुन, अबु जाएद, मोसादेक हुसैन।

 

 

अफगानिस्तान v/s न्यूजीलैंड : हेड टू हेड

 

 

न्यूजीलैंड-अफगानिस्तान के मैच का रिकॉर्ड।


 

वर्ल्ड कप में दोनों टीमें दूसरी बार आमने-सामने

वर्ल्ड कप में अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड दूसरी बार आमने-सामने होंगे। वर्ल्ड कप में दोनों के बीच पहली भिड़ंत 8 मार्च 2015 को नेपियर के मैदान पर हुई थी। उस मुकाबले में न्यूजीलैंड ने अफगानिस्तान को 6 विकेट से हराया था। ओवरऑल भी दोनों की बीच अब तक एक वनडे ही हुआ है।

 

अफगानिस्तान की टूर्नामेंट में पहली जीत पर नजर

इस वर्ल्ड कप में अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड दोनों 2-2 मैच खेल चुके हैं। न्यूजीलैंड अपने दोनों मैच जीतने में सफल रहा है। उसने पहले मैच में श्रीलंका को 10 और दूसरे मुकाबले में बांग्लादेश को 2 विकेट से हराया था। अफगानिस्तान को अपने दोनों मैच में हार का सामना करना पड़ा है। उसे पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट, दूसरे में श्रीलंका ने 34 रन से हराया था। ऐसे में अफगानिस्तान की नजर इस मैच में न्यूजीलैंड को हराकर टू्र्नामेंट में अपनी पहली जीत हासिल करने पर होगी।

दोनों टीमें : 

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), रोस टेलर, टॉम ब्लंडेल, ट्रेंट बोल्ट, कोलिन डीग्रैंडहोम, लॉकी फर्ग्युसन, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम, कॉलिन मुनरो, जेम्स नीशम, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, ईश सोढ़ी, टिम साउदी।

 

अफगानिस्तान : गुलबदीन नइब (कप्तान), आफताब आलम, असगर अफगान, दौलत जादरान, हामिद हसन, हसमतउल्ला शाहिदी, हजरतउल्ला जजाई, मोहम्मद नबी, मोहम्मद शहजाद, मुजीब उर रहमान, नजीबुल्ला जादरान, नूर अली जादरान, रहमत शाह, राशिद खान, समीउल्ला शिनवारी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here