National News

Trai New DTH and Cable TV rules from feb 1 | चंद घंटों बाद लागू होने जा रहे हैं ट्राई के नए नियम, Trai ने कहा, 72 घंटे में आपकी शिकायत सॉल्व न हो तो नहीं दें 1 भी रुपए


न्यूज डेस्क। आज से दो दिन बाद यानी 1 फरवरी से ट्राई (TRAI) के नए नियम लागू होने जा रहे हैं। नए नियमों के जरिए टीवी देखने का खर्चा कम करने की कोशिश की गई है। दर्शकों को सिर्फ उन्हीं चैनलों के पैसे देना होंगे, जो वे देखते हैं। उन्हें अपनी पसंद के चैनल चुनने का अधिकार होगा। ब्रॉडकास्टर को हर चैनल की कीमत अपने वेबसाइट पर दिखाना जरूरी है। ट्राई के इन नियमों के बाद सभी ब्रॉडकास्टर्स ने अपनी वेबसाइट पर चैनलों की प्राइस लिस्ट जारी कर दी है। अपने अपनी पसंद का पैक बना सकते हैं।

ब्रॉडकास्टर द्वारा बनाया गया पैक भी चुन सकते हैं। 31 जनवरी पैक चुनने की आखिरी तारीख है। आपने यदि अभी तक कोई पैकेज नहीं चुना है तो आप कंपनी के कस्टमर केयर पर कॉल कर पैकेज चुन सकते हैं। जानिए इससे जुड़ी जरूरी जानकारी।

100 चैनलों का है बेस पैक

– बेस पैक में 100 चैनल शामिल होंगे। इसमें फ्री टू एयर चैनल्स के साथ ही आप पे चैनल्स का पैकेज बना सकते हैं।

– बेस पैक का अधिकतम प्राइस 130 रुपए प्लस जीएसटी यानी 154 रु है। इसमें 25 दूरदर्शन के चैनल अनिवार्य तौर पर शामिल होंगे।

– बेस पैक के अलावा यदि आप और चैनल लेना चाहते हैं तो आपको इसके लिए अतिरिक्त स्लॉट लेना होगा। 25 चैनलों के स्लॉट की कीमत 20 रुपए है। इसे नेटवर्क कैपेसिटी फीस नाम दिया गया है। एक स्लॉट में 25 से ज्यादा चैनल नहीं आ सकते।

– स्टेंडर्ड डेफिनेशन (SD) चैनलों की कीमत हाई डेफिनेशन (HD) चैनलों की तुलना में कम है। आप बेस पैक में SD और HD दोनों ही तरह के चैनल शामिल कर सकते हैं। पे चैनलों का प्राइस बेस पैक में जोड़ दिया जाएगा।

72 घंटों में शिकायत का निवारण जरूरी

– कस्टमर यदि फ्री टू एयर (FTA) चैनल्स वाला बेस पैक भी चुनता है तो नेटवर्क कैपेसिटी फीस देना ही होगी। यानी टैक्स मिलाकर आपको 154 रुपए तो हर हाल में खर्च करना ही हैं।

– हर कस्टमर को 31 जनवरी तक नए रेग्युलेशंस के हिसाब से पैक चुनना है। यदि कोई कंज्युमर ऐसा नहीं कर पाता तो उसका सब्सक्रिप्शन बंद हो सकता है। आपने अभी तक पैक नहीं चुना है तो आप अपने डीटीएच ऑपरेटर से कॉन्टेक्ट कर सकते हैं।

– टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने ट्वीट करके कहा कि यदि आपके DTH सर्विस में फॉल्ट है और उसने 72 घंटे में उसे फिक्स नहीं किया है, तब आपको पेमेंट करने की जरूरत नहीं है। ट्राई के इस नियम से DTH और केबल ऑपरेटर्स को कस्टमर को टाइमली सर्विस देनी होगी।

– ट्राई के चैनल सिलेक्टर ऐप के जरिए भी आप चैनल चुन सकते हैं और कितना खर्चा आएगा, यह पता कर सकते हैं।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.