National News

surgical strike overhyped and politicised says retired Lt Gen DS Hooda, who | सर्जिकल स्ट्राइक जरूरी थी लेकिन इसे बढ़ा-चढ़ाकर बताया गया: रिटा. ले. जनरल हुड्डा


  • लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख थे
  • उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक का लाइव ऑपरेशन देखते हुए उसकी कमान संभाली थी
  • लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने कहा- सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर ज्यादा हाइप बनाई गई

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 11:41 AM IST

चंडीगढ़. रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक को ज्यादा ही बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया। ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी। भारत ने 28-29 सितंबर 2016 की दरमियानी रात सीमा पारकर पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के लॉन्च पैड तबाह किए थे।

मिलिट्री ऑपरेशन जरूरी था

  1. हुड्डा ने कहा-  मुझे लगता है कि सर्जिकल स्ट्राइक को कुछ ज्यादा ही तवज्जो दी गई। मिलिट्री ऑपरेशन जरूरी था और इसलिए हमने उसे अंजाम दिया। अब इसका कितना राजनीतिकरण हुआ, यह सही है या गलत, इसे राजनेताओं से पूछा जाना चाहिए।

  2. हुड्डा के मुताबिक- “जिस तरह से चीजें नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर हो रही हैं, उसे देखकर यही कहा जा सकता है कि हमें अप्रत्याशित तरीके से जवाब देना चाहिए जब तक कि पाकिस्तान तनाव को कम करने और घुसपैठ को रोकने के लिए कुछ नहीं करता।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.