Shifting of Mathaiamman temple at Narayanapuram on New Natham Road began with the structure being lifted 5 feet off the ground. | फ्लाईओवर बनाने के लिए शिफ्ट किया जा रहा 350 टन वजनी मंदिर, सालों पुराने मंदिर को खिसकाने में होगा इतना खर्चा

0
6


नेशनल डेस्क (मदुरै). तमिलनाडु के नारायणपुरम में मदुरै-नाथम एलिवेटेड हाईवे का काम चल रहा है। जिसके लिए यहां एक फ्लाईओवर बनना है। लेकिन रास्ते में 21 साल पुराने मंदिर के कारण काम रूक गया। जिसके बाद पहले मंदिर को तोड़ने का फैसला लिया गया, लेकिन जब इसे फिर से बनाने की लागत का अनुमान लगाया गया तो ये फैसला बदलना पड़ा। अब 350 टन वजनी इस मंदिर को बिना तोड़े 25 फीट खिसकाया जा रहा है। इसे खिसकाने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

25 फीट ऊंचा है चार हजार वर्गफीट में बना मंदिर

– मंदिर के पुजारी ए दामोदरन ने बताया कि पहले मंदिर के 15 फीट हिस्से को तोड़ने की बात कही गई थी। लेकिन कमेटी ने जब अनुमान लगाया कि इसे तोड़कर फिर से बनाने में लगभग 1.2 करोड़ का खर्च आएगा। जोकि इसके निर्माण में आई लागत का दोगुना है। जिसके बाद ये काम टाल दिया गया।

– फिर मंदिर कमेटी को इसे शिफ्ट करने के बारे में पता चला। जिसके बाद उन्होंने इसमें होने वाले खर्च का पता किया तो वो सिर्फ 22 लाख रुपए निकला। जिसके बाद इसे खिसकाने पर सहमति बन गई। इसके लिए पहले तीन महीने तक तैयारियां की गई थीं।

– मंदिर को हटाने के लिए पहले उसे जमीन से 5 फीट ऊपर उठाया गया। इस काम के लिए 350 बड़े जैक लगाए गए हैं। मंदिर को शिफ्ट करने के लिए नेपाल, हरियाणा और बिहार से आई टीमें काम कर रही हैं।

– मंदिर शिफ्ट करने में लगे इंजीनियर धर्मालिंगम ने कहा- ये मंदिर 4,225 वर्ग फीट में बना है। मंदिर के शिखर को मिलाकर इसकी ऊंचाई 25 फीट है। उन्होंने बताया कि इस मंदिर के लिए बगल में ही दूसरी जगह तैयार की गई है, जहां मंदिर को शिफ्ट किया जा रहा है।

सिर्फ 15 फीट हटाने की जरूरत थी

– शुक्रवार को सुबह 10:30 बजे जब मंदिर को खिसकाने की प्रक्रिया शुरू हुई तो तीन घंटे में उसे तीन फीट ही खिसकाया जा सका। हालांकि, मंदिर को 15 फीट हटाने की जरूरत है। लेकिन भविष्य में हाईवे के किसी अन्य काम की संभावना को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने इसे 25 फीट खिसकाने का फैसला लिया है। मुख्य भाग के बाद तीन छोटे मंदिरों को भी शिफ्ट किया जाएगा।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here