Sbi Link Home Loan Rate To Repo Rate From July 1 – एसबीआई ने दिया तोहफा, आरबीआई के रेपो रेट से लिंक होगा होम लोन

0
4


ख़बर सुनें

देश के सबसे बड़े बैंक–भारतीय स्टेट बैंक– ने भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में कटौती करने के बाद अपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है। बैंक ने कहा है कि अब होम लोन को रेपो रेट से लिंक किया जाएगा।

1 जुलाई से लागू होगा नियम

शुक्रवार देर शाम को बैंक ने बयान जारी करते हुए कहा वो अब रेपो रेट के आधार पर अपने होम लोन की पेशकश करेंगे। यह सुविधा एक जुलाई से शुरू होगी। 

एक लाख से ऊपर के बचत खातों को किया था लिंक

इससे पहले बैंक ने एक मई से एक लाख रुपये से ऊपर के बचत खातों में मिलने वाले ब्याज को रेपो रेट से लिंक किया था। ऐसा करने वाला यह पहला बैंक बन गया था। एसबीआई अबतक बचत खातों में एक लाख रुपये तक रखने वाले लोगों को 3.50 फीसदी की दर से ब्याज देता था। बीते 1 मई से इसमें 0.25 फीसदी की कटौती हो गई। 1 मई से नई ब्याज दर 3.25 प्रतिशत हो गई। 

42 करोड़ ग्राहकों पर पड़ेगा असर

बैंक के इस कदम का असर 42 करोड़ ग्राहकों पर पड़ेगा, जिन्होंने होम लोन लिया हुआ है। अब जब भी आरबीआई अपने रेपो रेट में बदलाव करेगा, उसका असर तुरंत होम लोन पर भी पड़ेगा। अगर केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में बढ़ोतरी की, तो फिर एसबीआई भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेगा। 

यह होती है रेपो रेट

रेपो रेट वह दर होती है जिस पर बैंकों को आरबीआई कर्ज देता है। बैंक इस कर्ज से ग्राहकों को कर्ज देते हैं। रेपो रेट कम होने से मतलब है कि बैंक से मिलने वाले कई तरह के कर्ज सस्ते हो जाएंगे। 

देश के सबसे बड़े बैंक–भारतीय स्टेट बैंक– ने भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में कटौती करने के बाद अपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है। बैंक ने कहा है कि अब होम लोन को रेपो रेट से लिंक किया जाएगा।

1 जुलाई से लागू होगा नियम

शुक्रवार देर शाम को बैंक ने बयान जारी करते हुए कहा वो अब रेपो रेट के आधार पर अपने होम लोन की पेशकश करेंगे। यह सुविधा एक जुलाई से शुरू होगी। 

एक लाख से ऊपर के बचत खातों को किया था लिंक

इससे पहले बैंक ने एक मई से एक लाख रुपये से ऊपर के बचत खातों में मिलने वाले ब्याज को रेपो रेट से लिंक किया था। ऐसा करने वाला यह पहला बैंक बन गया था। एसबीआई अबतक बचत खातों में एक लाख रुपये तक रखने वाले लोगों को 3.50 फीसदी की दर से ब्याज देता था। बीते 1 मई से इसमें 0.25 फीसदी की कटौती हो गई। 1 मई से नई ब्याज दर 3.25 प्रतिशत हो गई। 

42 करोड़ ग्राहकों पर पड़ेगा असर

बैंक के इस कदम का असर 42 करोड़ ग्राहकों पर पड़ेगा, जिन्होंने होम लोन लिया हुआ है। अब जब भी आरबीआई अपने रेपो रेट में बदलाव करेगा, उसका असर तुरंत होम लोन पर भी पड़ेगा। अगर केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में बढ़ोतरी की, तो फिर एसबीआई भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेगा। 

यह होती है रेपो रेट

रेपो रेट वह दर होती है जिस पर बैंकों को आरबीआई कर्ज देता है। बैंक इस कर्ज से ग्राहकों को कर्ज देते हैं। रेपो रेट कम होने से मतलब है कि बैंक से मिलने वाले कई तरह के कर्ज सस्ते हो जाएंगे। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here