Business News

Sbi Cuts Mclr By Five Bps, Loans To Become Marginally Cheaper – एसबीआई ने की ब्याज दरों में 0.5 फीसदी की कटौती, होम लोन पड़ेगा थोड़ा सस्ता


ख़बर सुनें

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को राहत देते हुए एमसीएलआर और होम लोन की दरों में कटौती की है। ये कटौती 10 अप्रैल से लागू होगी। बैंक ने एमसीएलआर की दर में पांच आधार अंक (0.05 फीसदी) की कटौती की है। अब उसकी एक साल की एमसीएलआर 8.55 फीसदी के कम होकर 8.50 फीसदी हो जाएगी। 

इस तरह बैंक ने होम लोन को भी सस्ता करते हुए 30 लाख रुपये के होम लोन पर ब्याज की दर 10 आधार अंक (0.10) फीसदी घटा दी है। 30 लाख तक होम लोन पर नई ब्याज दर 8.6-8.9 फीसदी होगी। पहले यह दर 8.7-9 फीसदी तक थी। उधर, इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) ने भी अपने ब्याज दरों में 0.05 फीसदी की कटौती कर थी। 

भारतीय रिजर्व बैंक ने हाल में अपनी चालू वित्त वर्ष की पहली द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर को चौथाई प्रतिशत घटाकर छह प्रतिशत किया था। इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक आफ महाराष्ट्र के बाद यह तीसरा बैंक है जिसने रेपो दर में कटौती के बाद कर्ज सस्ता किया है। 

इंडियन ओवरसीज बैंक ने एक साल और उससे ज्यादा टेन्योर वाले सभी लोन के लिए एमसीएलआर पांच बीपीएस यानी 0.05 फीसदी घटाकर 8.65 फीसदी कर दी है, जो 10 अप्रैल से लागू होगी। लेंडर बैंक ने एक साल के लोन के लिए एमसीएलआर घटाकर 8.65 फीसदी कर दी है। वहीं दो और तीन साल के लोन के लिए इसे क्रमशः 8.75 फीसदी और 8.85 फीसदी कर दिया गया है।

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को राहत देते हुए एमसीएलआर और होम लोन की दरों में कटौती की है। ये कटौती 10 अप्रैल से लागू होगी। बैंक ने एमसीएलआर की दर में पांच आधार अंक (0.05 फीसदी) की कटौती की है। अब उसकी एक साल की एमसीएलआर 8.55 फीसदी के कम होकर 8.50 फीसदी हो जाएगी। 

इस तरह बैंक ने होम लोन को भी सस्ता करते हुए 30 लाख रुपये के होम लोन पर ब्याज की दर 10 आधार अंक (0.10) फीसदी घटा दी है। 30 लाख तक होम लोन पर नई ब्याज दर 8.6-8.9 फीसदी होगी। पहले यह दर 8.7-9 फीसदी तक थी। उधर, इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) ने भी अपने ब्याज दरों में 0.05 फीसदी की कटौती कर थी। 

भारतीय रिजर्व बैंक ने हाल में अपनी चालू वित्त वर्ष की पहली द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर को चौथाई प्रतिशत घटाकर छह प्रतिशत किया था। इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक आफ महाराष्ट्र के बाद यह तीसरा बैंक है जिसने रेपो दर में कटौती के बाद कर्ज सस्ता किया है। 

इंडियन ओवरसीज बैंक ने एक साल और उससे ज्यादा टेन्योर वाले सभी लोन के लिए एमसीएलआर पांच बीपीएस यानी 0.05 फीसदी घटाकर 8.65 फीसदी कर दी है, जो 10 अप्रैल से लागू होगी। लेंडर बैंक ने एक साल के लोन के लिए एमसीएलआर घटाकर 8.65 फीसदी कर दी है। वहीं दो और तीन साल के लोन के लिए इसे क्रमशः 8.75 फीसदी और 8.85 फीसदी कर दिया गया है।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment