Business

Rotomac Group Vikram Kothari House Attached By Bank Of India In Kanpur – रोटोमैक पैन बनाने वाले इस अरबपति के घर पर बैंक का कब्जा, 900 करोड़ का था लोन डिफॉल्टर


ख़बर सुनें

यूपी के कानपुर में स्थित पैन बनाने वाली विश्व की मश्हूर कंपनी रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी के घर को बैंक ऑफ इंडिया ने अपने कब्जे में ले लिया है। कोठारी पर करीब 900 करोड़ रुपये का लोन था, जो कि कई वर्ष पहले एनपीए घोषित हो गया था। बैंक ऑफ इंडिया ने कोठारी के तिलक नगर स्थित आवास (मकान संख्या 7/23) को अपने कब्जे में ले लिया है। 

सलमान से लेकर रवीना तक थे ब्रांड अंबेसडर

कोठारी पर शहर की विभिन्न बैंकों का 3600 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है। वहीं चेक बाउंस का केस भी दर्ज है। एक समय रोटोमैक का विज्ञापन मश्हूर फिल्म अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री रवीना टंडन करते थे।

बैंक का 1395 करोड़ का कर्ज

बैंक ऑफ इंडिया का भी करीब 1395 करोड़ रुपये का कर्ज है।  विक्रम कोठारी की चार कंपनियों के नाम से शहर की बिरहाना रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया ब्रांच में चार अलग-अलग खाते हैं। ये सभी खाते वर्ष 2015 में एनपीए (नॉन परफार्मिंग एसेट) हो चुके हैं।

यह ऋण रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के नाम से 830 करोड़ रुपये, कोठारी फूड एंड फ्रेगरेंस के नाम से 155 करोड़ रुपये, रोटोमैक एक्सपोर्ट के नाम से 245 करोड़ रुपये और क्राउन एल्वा के नाम से 165 करोड़ रुपये का था।

बैंक लगातार विक्रम कोठारी और फर्म के डायरेक्टरों से पत्राचार कर रहा है, लेकिन कर्ज की रकम नहीं चुकाई जा रही थी। इसके अलावा इलाहाबाद बैंक का 352 करोड़ रुपये का कर्ज है। बैंक की ओर से जारी नोटिस में बताया गया कि वर्तमान में 848 करोड़ रुपये ऋण के अलावा 30 सितंबर 2015 से ब्याज एवं अन्य खर्च भी बकाया हैं। 

विक्रम कोठारी की पत्नी साधना कोठारी के नाम कानपुर के गुटैया स्थित इंद्रधनुष अपार्टमेंट की नौंवी मंजिल में बना एक फ्लैट (नंबर-902) मंगलवार को करीब 80 लाख रुपये में नीलाम हो चुका है।इसी तरह विक्रम कोठारी के पुत्र राहुल कोठारी के नाम बैकुंठपुर गांव में कई हेक्टेयर में फैला फार्म हाउस, खाली जमीन आदि थी। ये सब करीब 13.50 करोड़ रुपये में नीलाम हो गई। फार्म हाउस को शहर की रिद्धि श्री फर्म ने खरीदा है।

150 करोड़ का लोन 7 साल में 1400 करोड़ के पार

विक्रम कोठारी की रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का एक लोन एकाउंट कानपुर के माल रोड स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक में भी है। वर्ष 2010 में यह लोन एकाउंट महज 150 करोड़ का था। चार साल बाद यह 1400 करोड़ तक पहुंच गया। समय पर लोन की किस्तें अदा न हो पाने पर जून 2016 में यह एकाउंट एनपीए घोषित कर दिया गया था।

बैंकों को नहीं मिला नीलामी से भी फायदा

बैंक ने कई नोटिस भेजे, लेकिन निर्धारित समय पर निर्धारित रकम जमा न होने पर बैंक ने लोन की सिक्योरिटी के लिए बंधक डिपॉजिट जब्त कर लिए। सभी डिपॉजिट करीब 650 करोड़ के ही निकले। बैंक अब अपने 750 करोड़ रुपये की वसूली के लिए परेशान है।

बैंक ने इनके बकाये लोन पर अब ब्याज लगाना बंद कर दिया है।बैंकिंग सेक्टर से जुड़े सूत्र बताते हैं कि इंडियन ओवरसीज बैंक का सेंट्रल ऑफिस जल्द ही बकाया कर्ज की वसूली के लिए डेब्ट रिकवरी ट्रिब्यूनल में केस करेगा।

2017 तक ये था कुल कर्ज बैंक कर्जा

इंडियन ओवरसीज बैंक- 1400 करोड़
बैंक ऑफ इंडिया- 1395 करोड़
बैंक ऑफ बड़ौदा- 600 करोड़
इलाहाबाद बैंक- 352 करोड़

यूपी के कानपुर में स्थित पैन बनाने वाली विश्व की मश्हूर कंपनी रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी के घर को बैंक ऑफ इंडिया ने अपने कब्जे में ले लिया है। कोठारी पर करीब 900 करोड़ रुपये का लोन था, जो कि कई वर्ष पहले एनपीए घोषित हो गया था। बैंक ऑफ इंडिया ने कोठारी के तिलक नगर स्थित आवास (मकान संख्या 7/23) को अपने कब्जे में ले लिया है। 

सलमान से लेकर रवीना तक थे ब्रांड अंबेसडर

कोठारी पर शहर की विभिन्न बैंकों का 3600 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है। वहीं चेक बाउंस का केस भी दर्ज है। एक समय रोटोमैक का विज्ञापन मश्हूर फिल्म अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री रवीना टंडन करते थे।

बैंक का 1395 करोड़ का कर्ज

बैंक ऑफ इंडिया का भी करीब 1395 करोड़ रुपये का कर्ज है।  विक्रम कोठारी की चार कंपनियों के नाम से शहर की बिरहाना रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया ब्रांच में चार अलग-अलग खाते हैं। ये सभी खाते वर्ष 2015 में एनपीए (नॉन परफार्मिंग एसेट) हो चुके हैं।

यह ऋण रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के नाम से 830 करोड़ रुपये, कोठारी फूड एंड फ्रेगरेंस के नाम से 155 करोड़ रुपये, रोटोमैक एक्सपोर्ट के नाम से 245 करोड़ रुपये और क्राउन एल्वा के नाम से 165 करोड़ रुपये का था।

बैंक लगातार विक्रम कोठारी और फर्म के डायरेक्टरों से पत्राचार कर रहा है, लेकिन कर्ज की रकम नहीं चुकाई जा रही थी। इसके अलावा इलाहाबाद बैंक का 352 करोड़ रुपये का कर्ज है। बैंक की ओर से जारी नोटिस में बताया गया कि वर्तमान में 848 करोड़ रुपये ऋण के अलावा 30 सितंबर 2015 से ब्याज एवं अन्य खर्च भी बकाया हैं। 

विज्ञापन


आगे पढ़ें

पत्नी के नाम फ्लैट हुआ नीलाम





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.