Private detective agencies are in high demand this poll season | विपक्षी की कमजोरियां जानने के लिए जासूसों को 60 लाख रुपए तक दे रहे नेता

0
15


  • जासूसों को एक लाख से 60 लाख रुपए तक दे रही हैं पार्टियां
  • सूत्र ने बताया- विपक्षी खेमे में सेंध लगाने के लिए भी दिए जा रहे हैं पैसे

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव में निजी खुफिया एजेंसियों का खुलकर इस्तेमाल किया जा रहा है। विपक्षी पार्टी के उम्मीदवारों की कमजोरियां जानने के लिए नेता एक से 60 लाख रुपए तक खर्च कर रहे हैं। जासूसों को प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों की दिनचर्या पर पैनी नजर रखने का काम सौंपा गया है। एसोसिएशन के चेयरमैन के मुताबिक जिन लोगों को टिकट नहीं मिला, ऐसे लोग भी जासूसों को पैसा दे रहे हैं ताकि चुनाव लड़ने वाले की छुपी हुई बातें जान सकें।

जासूसों पर विपक्षी के अपराधिक रिकॉर्ड, तस्वीरें और वीडियो निकालने का जिम्मा

  1. एसोसिएशन ऑफ डिटेक्टिव्स एंड इन्वेस्टिगेटर्स के चेयरमैन कुंवर विक्रम सिंह ने बताया, ”राजनीतिक पार्टियों ने जासूसों को विपक्ष की चुनावी योजना, अपराधिक रिकॉर्ड जैसी बातों को खंगालने के दौरान उससे जुड़ी तस्वीरें और वीडियो निकालने का काम सौंपा है ताकि इसके बूते विपक्ष का चुनावी अभियान को कमजोर किया जा सके।”

  2. सिंह ने बताया, ”इस बार चुनाव में टिकट न पाने वाले भी एजेंसियों से संपर्क में हैं। उनकी कोशिश उम्मीदवार की कमजोरी पता करने की है। इसके बूते वे पार्टी के सामने खुद को बेहतर साबित करना चाहते हैं।”

  3. जीडीएक्स डिटेक्टिव्स के मैनेजिंग डायरेक्टर महेश चंद्र शर्मा ने कहा, ”इस बार गठबंधन की राजनीति का दौर है मगर कुछ लोग इससे नाराज भी हैं।पार्टियां जासूसों को पैसा दे रही हैं ताकि विपक्षियों से जुड़ी कोई ऐसी बात सामने आए जिससे गठबंधन न हो पाए। कुछ ऐसे भी हैं जो इन बातों का इस्तेमाल विपक्षी को ब्लैकमेल करने के लिए कर रहे हैं।”

  4. सूत्र के मुताबिक कुछ पार्टियों की मंशा अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर नजर रखने की भी है। खासकर ऐसे लोग जिन्हें टिकट नहीं मिला ताकि पीठ पीछे पार्टी का नुकसान करने वाले और पार्टी की बातें विपक्षियों को बताने वाले लोगों की पहचान हो सके। 

  5. एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया, ”जासूसों को इस काम के लिए एक लाख रुपए से 60 लाख रुपए तक मिल रहे हैं। पार्टियां मनमाफिक परिणाम पाने के लिए और भी पैसे देने के लिए तैयार हैं।”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here