Business News

Petrol Diesel Price Can Cross 75 Rupees Mark After Holi As Crude Prices Rises – 75 के पार जा सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, कच्चे तेल की कीमतों में उछाल जारी


ख़बर सुनें

होली के बाद देश भर में पेट्रोल-डीजल की कीमतें एक बार फिर से 75 के पार जा सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि विश्व में कच्चे तेल के दामों में एक बार फिर से उछाल देखने को मिल सकता है। फिलहाल दिल्ली में पेट्रोल 72 रुपये के पार चला गया है। 

65 के पार हुआ कच्चा तेल

कच्चा तेल एक बार फिर से 65 के पार चला गया है। इसके आगामी दो माह में 73 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच सकते हैं। फिच के अनुसार ओपेक द्वारा कटौती लागू करने के बाद इनके दाम में उछाल देखने को मिलेगा।

अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक सुलह की उम्मीदों से तेल में सोमवार को उछाल आया। आने वाले दिनों में कोई डील होती है तो वैश्विक आर्थिक विकास के साथ उपभोग बढ़ने की संभावना के साथ कच्चा तेल बढ़ सकता है।

इस साल इतने बढ़े दाम

पेट्रोल दो माह में करीब चार रुपये बढ़ चुका है। इस साल जनवरी को यह 68.29 रुपये प्रति लीटर था और सोमवार चार मार्च को यह 72.17 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। वहीं डीजल सोमवार को 67.41 रुपये प्रति लीटर रहा, जो पांच जनवरी को 62.26 रुपये प्रति लीटर था। 

सऊदी अरब की अगुवाई वाले ओपेक ने तेल आपूर्ति को फरवरी में चार साल के सबसे निचले स्तर तक पहुंचा दिया है। अमेरिकी प्रतिबंधों से ईरान और वेनेजुएला की तेल आपूर्ति में भी कमी आई है। 

होली के बाद देश भर में पेट्रोल-डीजल की कीमतें एक बार फिर से 75 के पार जा सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि विश्व में कच्चे तेल के दामों में एक बार फिर से उछाल देखने को मिल सकता है। फिलहाल दिल्ली में पेट्रोल 72 रुपये के पार चला गया है। 

65 के पार हुआ कच्चा तेल

कच्चा तेल एक बार फिर से 65 के पार चला गया है। इसके आगामी दो माह में 73 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच सकते हैं। फिच के अनुसार ओपेक द्वारा कटौती लागू करने के बाद इनके दाम में उछाल देखने को मिलेगा।

अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक सुलह की उम्मीदों से तेल में सोमवार को उछाल आया। आने वाले दिनों में कोई डील होती है तो वैश्विक आर्थिक विकास के साथ उपभोग बढ़ने की संभावना के साथ कच्चा तेल बढ़ सकता है।

इस साल इतने बढ़े दाम

पेट्रोल दो माह में करीब चार रुपये बढ़ चुका है। इस साल जनवरी को यह 68.29 रुपये प्रति लीटर था और सोमवार चार मार्च को यह 72.17 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। वहीं डीजल सोमवार को 67.41 रुपये प्रति लीटर रहा, जो पांच जनवरी को 62.26 रुपये प्रति लीटर था। 

सऊदी अरब की अगुवाई वाले ओपेक ने तेल आपूर्ति को फरवरी में चार साल के सबसे निचले स्तर तक पहुंचा दिया है। अमेरिकी प्रतिबंधों से ईरान और वेनेजुएला की तेल आपूर्ति में भी कमी आई है। 





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment