Business

Mtnl Claimed Of 500 Crore Rupees To Telecom Department – नकदी संकट से जूझ रहे एमटीएनएल ने दूरसंचार विभाग पर किया 500 करोड़ रुपये का दावा


ख़बर सुनें

नकदी संकट से जूझ रही एमटीएनएल ने दूरसंचार विभाग से 500 करोड़ रुपये के दावों की मांग की है। सूत्र के अनुसार कंपनी ने संचार सेवाओं के प्रस्तुतीकरण और कर्मचारियों के भुगतान से संबंधी भरपाई समेत कई मामलों में दावों की मांग की है। दूरसंचार विभाग के सूत्र के अनुसार, कंपनी द्वारा किए गए दावे पिछले कई वर्षों के हैं और कंपनी द्वारा की गई इस मांग की जांच की जा रही है। 

मामले की जानकारी रखने वाले अधिकारी के अनुसार एमटीएनएल ने 2000-01 के बाद के मामलों के दावे उठाए हैं। इस सभी दावों को मिलाकर कुल राशि 500 करोड़ रुपये पहुंच जाती है। हालांकि कंपनी के लिए यह राशि भी काफी अहम है। कंपनी मौजूदा समय में मासिक आधार पर 180 करोड़ रुपये के सैलरी टैब पर काम करती है। 

इसके अलावा कंपनी ने जनवरी से मेहनताना का भुगतान नहीं किया है। एमटीएनएल के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि विभाग से दावों की राशि की मांग की गई है, लेकिन यह मुश्किल से 300 से 500 करोड़ रुपये के बीच होगी। मौजूदा वित्त वर्ष में सितंबर, 2018 तक कंपनी का राजस्व 1,229 करोड़ रुपये रहा। साथ ही कंपनी को 1,802 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। 

नकदी संकट से जूझ रही एमटीएनएल ने दूरसंचार विभाग से 500 करोड़ रुपये के दावों की मांग की है। सूत्र के अनुसार कंपनी ने संचार सेवाओं के प्रस्तुतीकरण और कर्मचारियों के भुगतान से संबंधी भरपाई समेत कई मामलों में दावों की मांग की है। दूरसंचार विभाग के सूत्र के अनुसार, कंपनी द्वारा किए गए दावे पिछले कई वर्षों के हैं और कंपनी द्वारा की गई इस मांग की जांच की जा रही है। 

मामले की जानकारी रखने वाले अधिकारी के अनुसार एमटीएनएल ने 2000-01 के बाद के मामलों के दावे उठाए हैं। इस सभी दावों को मिलाकर कुल राशि 500 करोड़ रुपये पहुंच जाती है। हालांकि कंपनी के लिए यह राशि भी काफी अहम है। कंपनी मौजूदा समय में मासिक आधार पर 180 करोड़ रुपये के सैलरी टैब पर काम करती है। 

इसके अलावा कंपनी ने जनवरी से मेहनताना का भुगतान नहीं किया है। एमटीएनएल के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि विभाग से दावों की राशि की मांग की गई है, लेकिन यह मुश्किल से 300 से 500 करोड़ रुपये के बीच होगी। मौजूदा वित्त वर्ष में सितंबर, 2018 तक कंपनी का राजस्व 1,229 करोड़ रुपये रहा। साथ ही कंपनी को 1,802 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। 





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.