National News

Majority of air passengers unwilling to pay extra for seat of choice: surve | ज्यादातर यात्री मनचाही सीट के लिए अतिरिक्त पेमेंट करना नहीं चाहते: सर्वे


  • 12% ने कहा कि मनपसंद सीट के लिए पेमेंट करना चाहेंगे
  • 8% ने कहा- कितनी सीटों पर चार्ज लेना है, यह फैसला एयरलाइन करे 

Dainik Bhaskar

Dec 02, 2018, 10:00 PM IST

मुंबई. सर्वे में सामने आया है कि एयरलाइंस के ज्यादातर यात्री मनचाही सीट के लिए अतिरिक्त पेमेंट करना नहीं चाहते हैं। सर्वे में कहा गया कि वेब चेक-इन या एयरपोर्ट पर चेक-इन के दौरान जो भी सीट दी उपलब्ध कराई जाती है, यात्री उसी को स्वीकार करना चाहते हैं। 

 

24% ने कहा- जल्द एयरपोर्ट पहुंचकर हासिल करेंगे मनचाही सीट

 

कम्युनिटी आधारित सोशल नेटवर्क लोकल सर्कल्स ने 23 हजार लोगों पर सर्वे किया। इसमें 41 फीसदी लोगों ने कहा कि जो भी सीट उपलब्ध रहेगी, वह उसी को लेना चाहेंगे। 24 फीसदी ने कहा कि हम जल्दी एयरपोर्ट पहुंचने की कोशिश करेंगे और फिर अपनी पसंद की सीट हासिल करना चाहेंगे। केवल 12 फीसदी ने कहा कि मनचाही सीट रिजर्व कराने के लिए वह भुगतान करना चाहेंगे। 

 

6% ने कहा कि वीआईपी को भी पेमेंट करना चाहिए

सर्वे के मुताबिक, 43 फीसदी का मानना है कि कुल सीटों में से केवल एक चौथाई के लिए पेमेंट लिया जाना चाहिए, जबकि 8 फीसदी ने कहा कि कितनी सीटों के लिए चार्ज लिया जाना है, यह फैसला एयरलाइन पर छोड़ देना चाहिए। 8 फीसदी ने कहा कि आधी सीटों से ज्यादा पर चार्ज नहीं लेना चाहिए। वीआईपी को प्रिफर्ड सीट दिए जाने पर 78 फीसदी लोगों ने कहा कि यह उनके प्रभाव में रहने के कारण हैं। 6 फीसदी ने कहा कि वीआईपी को भी इसके लिए पेमेंट करना चाहिए।

 

इंडिगो ने लगाया था सीट चुनने पर चार्ज

इंडिगो एयरलाइंस ने वेब चेक-इन के दौरान सीट चुनने पर 100 से 800 रुपए तक का चार्ज लगा दिया था। सोशल मीडिया पर इस फैसले की आलोचना हुई तो सरकार ने समीक्षा करने की बात कही। इसके बाद एयरलाइंस ने सफाई दी थी कि चार्ज लगाने का फैसला सभी सीटों के लिए नहीं है। वेब चेक-इन के दौरान कुछ सीटों को एडवांस में उनकी उपलब्धता के आधार पर फ्री में चुना जा सकता है।



Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.