National News

mahagathbandhan: Mayawati and kejriwal commented on congress | केजरी ने कहा- दिल्ली में गठबंधन नहीं चाहती कांग्रेस; मायावती बोलीं- भाजपा-कांग्रेस में फर्क नहीं


  • केजरीवाल ने कहा- हमें देश को बचाने की चिंता थी, इसलिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाहते थे
  • मायावती ने कहा- मप्र की कांग्रेस सरकार ने गोहत्या के शक में मुसलमानों पर रासुका लगाई
  • बुधवार को शरद पवार के घर पर 6 विपक्षी दलों की हुई थी बैठक, इसमें राहुल-केजरीवाल भी मौजूद थे 

नई दिल्ली. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन की संभावनाओं से इनकार कर दिया। राकांपा प्रमुख शरद पवार के घर विपक्षी नेताओं की मुलाकात के एक दिन बाद केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस ने आप के साथ गठबंधन करने से लगभग मना कर दिया है। उधर, बसपा सुप्रीमो मायावती ने मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार की तुलना उप्र की भाजपा सरकार से की। उन्होंने कहा कि दोनों में कोई फर्क नहीं है।

भाजपा को मिलेगा फायदा- केजरीवाल

  1. कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर केजरीवाल ने कहा, हमारे मन में देश को बचाने की चिंता है। इसी वजह से हम गठबंधन करना चाहते थे। लेकिन कांग्रेस ने लगभग मना कर दिया। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस और आप एक साथ चुनाव नहीं लड़ती तो इसका फायदा भाजपा को मिलेगा।


  2. माया ने भाजपा और कांग्रेस पर साधा निशाना

    मायावती ने गुरुवार को ट्वीट किया, ”मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार ने पहले की भाजपा सरकार की तरह गोहत्या के शक में मुसलमानों पर रासुका के तहत कार्रवाई की। उधर, उप्र में भाजपा सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 14 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया। दोनों सरकारी आतंक हैं, इनकी निंदा होनी चाहिए। लोग फैसला करे कि दोनों सरकारों में क्या अन्तर है?”


  3. ‘भाजपा और कांग्रेस में कोई तुलना नहीं’

    मायावती के बयान पर मप्र सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कहा, ”हमने जो भी कार्रवाई की, उसका वादा हमने अपने घोषणा पत्र में किया था। अगर उन्हें इसमें कुछ भी अनैतिक लगता है वे हमें लिख सकती हैं। हम इस पर फैसला कर लेंगे। लेकिन भाजपा और कांग्रेस में कोई तुलना नहीं है।”


  4. शरद पवार के इकट्ठा हुए थे 6 दलों के नेता

    इससे पहले बुधवार देर रात शरद पवार के दिल्ली स्थित आवास पर विपक्षी दलों की बैठक हुई थी। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला शामिल हुए।

  5. बैठक के बाद राहुल ने कहा था, “बहुत अच्छे माहौल में यह बैठक हुई है। हम इस बात पर सहमत हैं कि हमारा मुख्य लक्ष्य नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा संस्थानों पर हो रहे हमलों को खत्म करना है। हमने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के बारे में बात शुरू कर दी है। हम साथ मिलकर भाजपा को हराने पर काम करेंगे। हालांकि, दिल्ली और बंगाल में अभी हम किस तरह चुनाव लड़ेंगे इस पर फैसला नहीं लिया गया है।”





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.