Lok Sabha Chunav 2019 Narendra Modi rally in gujarat and goa news and updates | मोदी ने कहा- पहले कर्नाटक में था कांग्रेस का एटीएम, अब मध्यप्रदेश में बोरा भर-भरकर नोट मिल रहे

0
6


  • मोदी की आज तीन सभाएं- गुजरात के जूनागढ़, तापी और गोवा में रैलियां
  • गुजरात में 23 अप्रैल और गोवा में 19 मई को वोट डाले जाएंगे

अहमदाबाद/पणजी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को गुजरात में जूनागढ़ की चुनावी सभा में फिर एक बार कांग्रेस पर निशाना साधा। कहा- पहले कांग्रेस का एटीएम कर्नाटक था अब मध्यप्रदेश में छह महीने भी सरकार बने नहीं हुआ और वहां नेताओं के करीबियों के यहां बोरा भर-भरकर नोट मिल रहे हैं। 

 

मोदी ने कहा, “सबूतों के साथ तुगलक रोड चुनावी घोटाला उजागर हो गया है। कांग्रेस गरीब बच्चों का निवाला छीनकर अपने नेताओं का पेट भर रही है। कांग्रेस गर्भवती महिलाओं के लिए भेजे गए पैसों को लूट रही है। बीते कुछ दिनों में आपने देखा होगा कि कांग्रेसियों के घरों से बोरा भर-भर कर नोट निकले। मध्यप्रदेश में सरकार बने अभी 6 महीने भी नहीं हुए। पहले कांग्रेस ने कर्नाटक को अपना एटीएम बनाया था। अब मध्यप्रदेश बन गया। कांग्रेस सिर्फ पैसा लूटने के लिए सत्ता में आती है।”

 

मोदी की आज तीन चुनावी सभाएं हैं। जूनागढ़ के बाद वे गुजरात के तापी और इसके बाद गोवा में भी सभाएं करेंगे। गुजरात में 23 अप्रैल और गोवा में 19 मई को वोट डाले जाएंगे। इससे पहले मोदी ने मंगलवार को कर्नाटक के चित्रदुर्ग और मैसूर के अलावा महाराष्ट्र के लातूर में चुनावी रैली की थी। इस दौरान उन्होंने आतंकवाद और भ्रष्टाचार के मुद्दों को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला था।

 

‘कांग्रेस में नोट से वोट खरीदने की संस्कृति’

प्रधानमंत्री ने मंगलवार को लातून में कहा, “‘मध्यप्रदेश में सरकार बने अभी 6 महीने नहीं हुए, लेकिन इनकी कलाकारी देखिए, अरबों-खरबों रुपये की लूट के सबूत मिले हैं। बड़े-बड़े लोगों के बंगलों से करोड़ों का कालाधन इधर से उधर हुआ है। डर के कारण कुछ रागदरबारी, इनके खासमखास वहां पहुंच गए कि पैसे जब्त न हों और दबाव बनाने लगे। भ्रष्टाचार ही वह काम है जो कांग्रेस सत्ता में आने के बाद पूरी ईमानदारी के साथ करती है। कांग्रेस में भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार है। आपने देखा होगा कल-परसों, कैसे कांग्रेस के करीबियों के घर से बक्सों में भरे हुए नोट मिल रहे हैं। नोट से वोट खरीदने का ये पाप इनकी राजनीतिक संस्कृति रही है। ये बोलते हैं- चौकीदार चोर है, लेकिन नोट कहां से निकले। असली चोर कौन है?’’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here