National News

J-K Raj Bhawan’s fax machine still broken: Omar Abdullah | उमर ने कहा- राज्यपाल को खत भेजा, पर फैक्स मशीन खराब थी; राजभवन ने ट्वीट कर दिया जवाब


  • उमर अब्दुल्ला की पोस्ट के बाद राजभवन ने ट्वीट कर खत रिसीव किए जाने की जानकारी दी
  • उमर ने परमानेंट रेजिडेंस सर्टिफिकेट दिए जाने की व्यवस्था पर लिखा था राज्यपाल को खत

Dainik Bhaskar

Dec 02, 2018, 10:43 PM IST

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग किए जाने के दौरान सुर्खियों में आई राजभवन की फैक्स मशीन फिर चर्चा में आ गई। नेशनल कॉन्फ्रेंस लीडर उमर अब्दुल्ला ने रविवार को ट्वीट किया कि उन्होंने एक बार फिर फैक्स मशीन पर राज्यपाल सत्यपाल मलिक को पत्र भेजने की कोशिश की, लेकिन यह अभी भी खराब है। उन्होंने कहा कि जब फोन पर इस बारे में पता करने की कोशिश की तो जवाब मिला कि फैक्स ऑपरेटर रविवार होने की वजह से छुट्टी पर है। हालांकि, इसके बाद राजभवन ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर उमर का खत रिसीव होने की बात कही और इस पर राज्यपाल का जवाब भी पोस्ट किया।

 

राजभवन में तत्काल नई फैक्स मशीन की जरूरत- उमर

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा- राज्य में परमानेंट रेजिडेंस सर्टिफिकेट दिए जाने की व्यवस्था में प्रस्तावित बदलावों की खबरों पर चिंता जाहिर करते हुए हमने राज्यपाल को खत भेजने की कोशिश की थी, लेकिन यह फैक्स पर रिसीव नहीं हुआ। हम सोमवार को फिर कोशिश करेंगे। अभी मैं सोशल मीडिया पर ये पत्र पोस्ट करने के लिए बाध्य हूं। राजभवन को तत्काल नई फैक्स मशीन की जरूरत है।

 

राजभवन ने कहा- व्यवस्था नहीं बदली गई

उमर के ट्वीट पर राजभवन ने ट्वीट किया- हमें उमर का खत मिल गया है। खत रविवार शाम 3:44 पर रिसीव कर लिया गया है। राजभवन ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक का जवाब भी ट्वीट किया। इसमें कहा गया कि परमानेंट रेजिडेंस सर्टिफिकेट दिए जाने की व्यवस्था में सरकार कोई बदलाव नहीं कर रही है और ना ही इस बारे में विचार किया जा रहा है।

 

उमर ने कहा- इसी तरह काम करता है परिपक्व लोकतंत्र

उमर ने ट्वीट किया कि राज्यपाल ने पत्र रिसीव कर लिया है और मुझे इस बात की खुशी है कि व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं किया जा रहा। उमर ने दूसरे ट्वीट में कहा- परिपक्व लोकतंत्र इसी तरह काम करता है। हमने अपनी चिंताएं जाहिर कीं और पद पर बैठे व्यक्ति ने उन पर ध्यान िदया। जब हम आमने-सामने नहीं मिल सकते, तो हम तकनीक का इस्तेमाल कर सकते हैं। राज्यपाल महोदय के वक्त से दिए गए विस्तृत जवाब का मैं आभारी हूं। 

 

21 नवंबर को विधानसभा भंग हुई, इस दिन भी फैक्स ऑपरेटर छुट्टी पर था

पीडीपी लीडर महबूबा मुफ्ती ने 21 नवंबर को सरकार बनाने का दावा किया था और उन्होंने कहा था कि राजभवन को फैक्स पर भेजी चिट्ठी रिसीव नहीं हुई। उन्होंने कांग्रेस-नेशनल कॉन्फ्रेंस के समर्थन से बहुमत हासिल करने का दावा करने वाला पत्र सोशल मीडिया पर शेयर किया था। उन्होंने डाक के जरिए ये खत राजभवन को भेजा था। हालांकि, इसी दिन राज्यपाल ने रात करीब 9 बजे विधानसभा भंग कर दी थी। मलिक ने बाद में सफाई दी थी कि ईद-ए-मिलाद-उन-नबी की छुट्टी होने की वजह से फैक्स ऑपरेटर इस दिन छुट्टी पर था। 



Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.