International News

Indian Navy deployed nuclear attack submarine INS Chakra INS Vikramaditya after pulwama attack | आतंकी हमले के बाद अलर्ट पर थी भारतीय नेवी, अरब सागर में तैनात की थी परमाणु पनडुब्बी


  • इंडियन नेवी के इस कदम से पाकिस्तानी नौसेना मकरान तट से आगे नहीं बढ़ पाई
  • आईएनएस विक्रमादित्य की सुरक्षा के लिए परमाणु पनडुब्बी आईएनएस चक्र को तैनात किया था

नई दिल्ली. पुलवामा हमले के बाद खतरे को भांपते हुए इंडियन नेवी ने उत्तरी अरब सागर में लड़ाकू विमानों के साथ ही विमान वाहक युद्धपोत आईएनएस विक्रमादित्य, परमाणु पनडुब्बी आईएनएस चक्र समेत अन्य जंगी जहाजों को तैनात कर दिया था। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था। इसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। हालांकि, 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाक में घुसकर जैश के ठिकानों पर बम गिराए थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसमें 350 आतंकी मारे गए थे।

“आईएनएस विक्रमादित्य और अन्य युद्ध पोतों को तैनात किया था’

  1. सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के कैंप पर किए गए एयर स्ट्राइक के बाद भी भारतीय नौसेना अलर्ट हो गई थी और वॉर मोड में आ गई थी।इंडियन नेवी ने पाकिस्तानी नौसेना को मकरान तट के करीब रहने को मजबूर कर दिया था और खुले समुद्र में पाक की किसी भी गतिविधि पर रोक लगा दी। 


  2. समंदर के रास्ते भारत पर हमला कर सकते हैं आतंकी: नौसेना प्रमुख

    एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनिल लांबा ने अंदेशा जताया था कि आतंकी समंदर के रास्ते से हमला करने की फिराक में हैं। इसके लिए आतंकियों को  ट्रेनिंग भी दी जा रही है। ये हमला पाकिस्तान के सपोर्ट से होगा।

  3. एडमिरल लांबा ने दावा किया था कि उन्हें जानकारी मिली है कि आतंकी समदंर के रास्ते से हमले की साजिश रच रहे हैं। इसकी ट्रेनिंग भी शुरू हो चुकी है। उन्होंने यह भी कहा था कि भारत ने कुछ हफ्ते पहले जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का भयावह रूप देखा है। इस हिंसा के पीछे वे देश है, जो इन आतंकियों को सपोर्ट करते हैं।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment