International News

Indian Air Force Is Learnt To Have Provided The Government With Proof That It Hit Targets In Pakistan Balakot | वायुसेना ने केंद्र सरकार को सौंपे एयर स्ट्राइक से जुड़े सबूत, बताया ज्यादातर निशाने रहे सटीक, दस्तावेजों में तस्वीरें भी शामिल


नेशनल डेस्क. पुलवामा हमले के खिलाफ 26 फरवरी को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में की गई एयर स्ट्राइक के सबूत, वायुसेना ने केंद्र सरकार को सौंप दिए हैं। सोर्सेस के मुताबिक बुधवार को इस एयस्ट्राइक से जुड़े सारे दस्तावेज सरकार को सौंप दिए गए। जिनमें वो तस्वीरें भी शामिल हैं, जिन्हें एयरस्ट्राइक के दौरान लिया गया था। वायुसेना ने ये भी कहा है कि उनके ज्यादातर निशाने सही जगह लगे थे। ये रिपोर्ट सार्वजनिक होगी या नहीं इसका फैसला केंद्र सरकार करेगी।

सरकार को सौंप दी गई 12 पेज की रिपोर्ट…

– सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सरकार को 12 पेज की रिपोर्ट सौंपी गई है। जिसमें बालाकोट के उन क्षेत्रों की भी हाई रिजोल्यूशन तस्वीरें भी शामिल हैं, जहां पर एयर स्ट्राइक की गई थी।

– तस्वीरों को देखकर समझ आ रहा है कि भारतीय मिसाइल ने जैश-ए-मोहम्मद की ट्रेनिंग कैंप की बिल्डिंग्स को तबाह कर दिया था। तस्वीरों से पता चलता है कि भारतीय मिसाइलों से बिल्डिंग्स में कई छेद हुए।

– रिपोर्ट के मुताबिक सेना के 80 प्रतिशत तक अचूक थे और जिन-जिन बिल्डिंगों को निशाना बनाकर बम गिराए गए थे, वो बिल्कुल सही जगह पर जाकर गिरे। जिसके कारण वहां भयानक तबाही हुई।

– बम की वजह से टारगेट बनाए गए मकानों की छत ब्लास्ट में उड़ गई। रिपोर्ट के अनुसार, एयरस्ट्राइक के दौरान सभी टारगेट्स को खत्म कर दिया गया। हालांकि ये रिपोर्ट सार्वजनिक होगी या नहीं, इस बात का फैसला केंद्र सरकार को करना होगा।

– इससे पहले सैटेलाइट तस्वीरों के आधार पर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि बालाकोट में जैश के कैंप की इमारतें पहले की तरह ही खड़ी हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। जिसके बाद वायुसेना ने ये सबूत पेश करते हुए सरकार के सामने अपना पक्ष रखा है।

14 फरवरी को हुआ था आतंकी हमला

– बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले का बदला लेने के लिए भारत ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी। सरकार का कहना है कि इस स्ट्राइक के दौरान 300 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे।

विपक्षी दल मांग रहे सबूत

– पाकिस्तान में गुई एयरस्ट्राइक को लेकर विपक्ष के कई नेता केंद्र सरकार से सबूत देने की मांग कर चुके हैं। उनका कहना है कि इस स्ट्राइक के दौरान कितने आतंकी मारे गए सरकार को इस बात का जवाब सबूत के साथ देना चाहिए।

– कांग्रेस की ओर से दिग्विजय सिंह, मनीष तिवारी, तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल, जम्मू-कश्मीर के कई नेताओं के अलावा भाजपा की साथी शिवसेना भी एयरस्ट्राइक की सच्चाई को जनता के सामने रखने की मांग कर चुकी है।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment