International News

Hong Kong admits world’s largest air purifier choked on debut | शुरू होने के कुछ समय बाद ही खराब हुआ दुनिया का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर


  •  एयर प्यूरीफायर 80 प्रतिशत हानिकारक कण और नाइट्रोजन आक्साइड को मशीन में लगे पंखों की मदद से हटा सकता है
  • यह 50.4 लाख क्यूबिक मीटर आयतन तक हवा को हर घंटे साफ कर सकता है

हॉन्गकॉन्ग. हॉन्गकॉन्ग में दुनिया का सबसे बड़ा एयर फिल्टर शुरू होने के कुछ समय बाद ही बंद हो गया। यह फिल्टर शहर के नीचे बनी 3.7 किलोमीटर लंबी सुरंग में यात्रियों को फ्रेश हवा पहुंचाने के लिए लगाया गया है। 32 हजार 482 करोड़ रु. की लागत से बना यह प्रोजेक्ट फरवरी के अंत में शुरू किया गया था।

 

हॉन्गकॉन्ग सरकार ने दावा किया था कि यह दुनिया का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर है, जो हवा से 80 प्रतिशत हानिकारक कण और नाइट्रोजन आक्साइड को मशीन में लगे बड़े पंखों की मदद से हटा सकता है। इसमें टनल के साथ तीन वेटिंलेशन बनाए गए हैं। यह 50.4 लाख क्यूबिक मीटर तक हवा को हर घंटे साफ कर सकता है।

 

प्यूरीफायर के दो फिल्टर ठीक से काम कर रहे

मंगलवार को हाईवे विभाग ने बयान जारी कर कहा कि मशीन फरवरी में शुरू होने के तुरंत बाद ही बंद हो गई थी। इसके फिल्टर सिस्टम में लगे पंखे, ब्लेड और अन्य पूर्जे खराब हो गए हैं। इसे ठीक करने के लिए काम किया जा रहा है, जो अप्रैल के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। हालांकि, उन्होंने बताया कि दो फिल्टर ठीक से काम कर रहे हैं, इसके चलते एयर प्यूरीफायर ठीक से काम कर रहा है। 





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment