Business News

Dgca Issues Notice To Indigo Over Handling Of Pw Engine Snag – इंडिगो के इस विमान के इंजन में गड़बड़ी, Dgca ने भेजा नोटिस


ख़बर सुनें

भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो के विमान के प्रैट एंड व्हिटनी इंजन में खराबी के कई मामले सामने आ चुके हैं। इसके चलते अब नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने एयरलाइन को सुरक्षा ऑडिट का आदेश दिया है। बता दें कि इंडिगो ए-320 एनईओ (न्यू इंजन ऑप्शन) से चलती है। 

इंडिगो ने दिया बयान

इस संदर्भ में इंडिगो ने एक बयान जारी कर कहा है कि, ‘हम पुष्टि करते हैं कि वर्तमान में इंडिगो पर एक डीजीसीए ऑडिट है जो वार्षिक ऑडिट के साथ संयुक्त है।’ इसके साथ ही इंडिगो ने कहा है कि कंपनी को सीमित संख्या में कारण बताओ नोटिस प्राप्त हुआ है। 

डीजीसीए ने की पुष्टि

एविएशन रेगुलेटर डीजीसीए के अधिकारी बीएस भुल्लर ने अपने बयान में कहा है कि, ‘हम साल में कम से कम एक बार सभी एयरलाइंस का विस्तृत ऑडिट करते हैं। इस महीने इंडिगो का हो रहा है, तो वहीं जून में किसी दूसरी कंपनी का होगा। 

डीजीसीए ने पुष्टि की है कि इस ऑडिट में वर्तमान सुरक्षा मुद्दे केंद्रित हैं। बता दें कि ऑडिट में एयरलाइन को ए-320 एनईओ विमान से जुड़ी घटनाओं की सूचना नहीं देने के उदाहरणों पर गौर करने का आदेश दिया गया था।

भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो के विमान के प्रैट एंड व्हिटनी इंजन में खराबी के कई मामले सामने आ चुके हैं। इसके चलते अब नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने एयरलाइन को सुरक्षा ऑडिट का आदेश दिया है। बता दें कि इंडिगो ए-320 एनईओ (न्यू इंजन ऑप्शन) से चलती है। 

इंडिगो ने दिया बयान

इस संदर्भ में इंडिगो ने एक बयान जारी कर कहा है कि, ‘हम पुष्टि करते हैं कि वर्तमान में इंडिगो पर एक डीजीसीए ऑडिट है जो वार्षिक ऑडिट के साथ संयुक्त है।’ इसके साथ ही इंडिगो ने कहा है कि कंपनी को सीमित संख्या में कारण बताओ नोटिस प्राप्त हुआ है। 

डीजीसीए ने की पुष्टि

एविएशन रेगुलेटर डीजीसीए के अधिकारी बीएस भुल्लर ने अपने बयान में कहा है कि, ‘हम साल में कम से कम एक बार सभी एयरलाइंस का विस्तृत ऑडिट करते हैं। इस महीने इंडिगो का हो रहा है, तो वहीं जून में किसी दूसरी कंपनी का होगा। 

डीजीसीए ने पुष्टि की है कि इस ऑडिट में वर्तमान सुरक्षा मुद्दे केंद्रित हैं। बता दें कि ऑडिट में एयरलाइन को ए-320 एनईओ विमान से जुड़ी घटनाओं की सूचना नहीं देने के उदाहरणों पर गौर करने का आदेश दिया गया था।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment