National News

congress leader Ghulam Nabi Azad attak on PM Modi | हमारी तैयारी पूरी, कांग्रेस उप्र में सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी: गुलाम नबी


  • सपा-बसपा के गठबंधन को लेकर आजाद ने कहा- हमने गठबंधन नहीं तोड़ा, हम सबसे बात करने के लिए तैयार थे
  • उन्होंने कहा- 2009 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उप्र में नम्बर 1 पार्टी बनी थी, इस बार दोगुनी सीटें जीतेंगे
  • राहुल गांधी ने शनिवार को कहा था- हम यूपी में पूरे दम से लड़ेंगे

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 08:38 AM IST

लखनऊ. लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा के गठबंधन के ऐलान के बाद रविवार को कांग्रेस ने भी साफ कर दिया कि पार्टी उत्तरप्रदेश की सभी 80 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारी तैयारी पूरी है। हम सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा को राष्ट्रीय स्तर पर केवल अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस ही हरा सकती है।

 

इससे पहले शनिवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमों मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन का ऐलान किया था। उप्र में दोनों पार्टियां 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। हालांकि, मायावती ने कहा था कि वे कांग्रेस से गठबंधन किए बिना भी उनके लिए अमेठी और रायबरेली सीट पर प्रत्याशी नहीं उतारेंगे। अमेठी से राहुल गांधी और रायबरेली से सोनिया गांधी सांसद हैं।

 

जनता जानती है, हमने गठबंधन नहीं तोड़ा– आजाद

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जनता जानती है कि हमने गठबंधन नहीं तोड़ा। हमने पहले ही कहा था कि उन सभी पार्टियों से बात करने के लिए तैयार हैं, जो भाजपा को हराना चाहती हैं। लेकिन हम किसी पर दबाव नहीं डाल सकते। सपा-बसपा ने इसे समाप्त कर दिया, अब हम भाजपा को हराने के लिए अकेले चुनाव लड़ेंगे।

 

‘कांग्रेस ने टुकड़ों में बंटे देश को अखंड भारत बनाया’

आजाद ने कांग्रेस की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि हमारी पार्टी ने ही टुकड़े-टुकड़े में बंटे भारत को अखंड भारत बनाया। उन्होंने कहा कि देश को आजादी दिलाने में कांग्रेस का महत्पवूर्ण योगदान रहा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर नेहरू तक सभी ने अपना-अपना योगदान दिया, जिसकी वजह से देश अखंड बन पाया।

 

अखिलेश-माया को गठबंधन का हक: राहुल गांधी

राहुल ने दुबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गठबंधन के सवाल को लेकर शनिवार को कहा था, ”सपा-बसपा को गठबंधन का हक है, लेकिन वहां पर कांग्रेस अपनी विचारधारा की लड़ाई पूरे दम से लड़ेगी। मायावती-अखिलेश ने जो फैसला लिया, मैं उसका आदर करता हूं। ये उनका फैसला है। कांग्रेस को उत्तर प्रदेश में खुद को खड़ा करना है। हम ये कैसे करेंगे, यह हमारे ऊपर है। हमारी लड़ाई भाजपा की विचारधारा से है और हम यूपी में पूरे दम से लड़ेंगे।”

 

कांग्रेस को 2009 लोकसभा चुनाव में 21 सीटें मिली थीं

2009 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 21 सीटें जीती थीं। जबकि, 2014 के चुनाव में कांग्रेस सिर्फ 2 सीटों पर सिमट गई थी।

 





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.