International News

Brother not married, so sister has come:Shah on Cong dynasty | भाजपा में चायवाला भी पीएम बनता है; राहुल की शादी नहीं हुई इसलिए कांग्रेस में प्रियंका आईं: शाह


  • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को गुजरात के गोधरा में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया
  • शाह ने कहा- कांग्रेस में प्रधानमंत्री पद जन्मजात आरक्षित
  • महागठबंधन को लेकर शाह ने कहा- यह राज्य के स्तर के नेताओं का गठबंधन

अहमदाबाद. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कांग्रेस में प्रियंका गांधी की राजनीतिक इंट्री को लेकर निशाना साधा। शाह ने कहा कि भाजपा में कोई भी कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष और एक चायवाला प्रधानमंत्री बन सकता है। लेकिन कांग्रेस में प्रधानमंत्री पद जन्मजात आरक्षित है। यहां कोई भी कार्यकर्ता इस पद के बारे में नहीं सोच सकता। उन्होंने कहा- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की शादी नहीं हुई, इसलिए प्रियंका गांधी कांग्रेस में आईं।

प्रधानमंत्री पद के लिए नाम का ऐलान करे महागठबंधन- शाह

  1. शाह ने मंगलवार को गुजरात के गोधरा में मेरा परिवार भाजपा परिवार अभियान की शुरुआत की। यहां उन्होंने कहा, “मैं पार्टी का बूथ कार्यकर्ता था। मैं अध्यक्ष बना। चायवाला देश का प्रधानमंत्री बना। भाजपा कार्यकर्ता को ऊंचे पद पर पहुंचने के लिए किसी विशेष परिवार में जन्म लेने की जरुरत नहीं है।”

  2. भाजपा अध्यक्ष ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी को जनता का अपार समर्थन है। महागठबंधन राज्य स्तर के नेताओं का गठबंधन है। लोकसभा चुनाव में यह भाजपा के सामने नहीं टिकेगा। यह भाजपा पर कोई प्रभाव नहीं डालेगा।”

  3. उन्होंने कहा, ”महागठबंधन को अपने नेता का ऐलान करना चाहिए। साथ ही इसका प्रधानमंत्री का चेहरा कौन है ये भी बताना चाहिए। देश में गरीबों की सेवा के लिए पूर्ण बहुमत में मोदी सरकार की जरुरत है।”

  4. शाह ने कहा, “2019 का लोकसभा चुनाव देश को सुपर पावर बनाने के लिए काफी अहम है। मैंने पूरे देश में यात्राएं की हैं और देखा है कि कैसे लोग मोदी के समर्थन में चट्टान की तरह खड़े हैं। मैंने जनता की आंखों में प्रधानमंत्री के लिए प्यार देखा है।”

  5. उन्होंने कहा, ”मोदी सरकार देश को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लिए काम कर रही है। अलग-अलग प्रोग्राम के तहत करीब 22 करोड़ लोग भाजपा से जुड़ चुके हैं। मैं कार्यकर्ताओं को विश्वास दिलाता हूं कि भाजपा सरकार ऐसा कोई काम नहीं करेगी, जिससे उन्हें शर्म महसूस हो। गर्व के साथ लोगों से मिलें, वे मोदीजी का स्वागत करने के लिए तैयार हैं।”





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment