International News

Brokerage Firms Expect Better Performance From Car Companies | ऑटोमोबाइल: कार कंपनियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद


फरवरी में ऑटोमोबाइल कंपनियों की बिक्री संख्या के लिहाज से ज्यादा नहीं बढ़ी। यात्री वाहनों की बिक्री लगातार आठवें महीने कमजोर रही। मध्यम और भारी कॉमर्शियल वाहनों में लगातार चौथे महीने गिरावट का रुख बना रहा। इनकी बिक्री सालाना (11%) और मासिक (1.6%) दोनों आधार पर घटी है। हल्के कॉमर्शियल वाहनों में 3.3% ग्रोथ दर्ज हुई है। पश्चिमी और दक्षिणी राज्यों में सुस्ती से ट्रैक्टर की डिमांड भी कम रही। इसकी बिक्री में सिर्फ 3.3% बढ़ोतरी हुई। जनवरी की तुलना में तो इसमें भी 7% गिरावट है। ज्यादातर ऑटोमोबाइल कंपनियों के पास अब भी काफी स्टॉक पड़ा है। त्योहारों में सुस्ती का असर अभी तक दिख रहा है।

 

नई बीमा पॉलिसी और कर्ज वितरण में दिक्कतों के चलते ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री करीब छह महीने से परेशानी में है। एक्सल-लोड नियमों का असर चार महीने से कॉमर्शियल वाहनों की बिक्री पर भी दिख रहा है। टू-व्हीलर सेगमेंट में बजाज ऑटो की बिक्री सालाना साधार पर 10% और टीवीएस मोटर्स की 3% बढ़ी, लेकिन हीरो मोटोकॉर्प की 2% घटी है। कॉमर्शियल और दोपहिया वाहनों की तुलना में यात्री वाहन बनाने वाली कंपनियां आगे बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं।

 

महिंद्रा में सबसे ज्यादा रिटर्न मिल सकता है







कंपनी मौजूदा कीमत लक्ष्य रिटर्न
महिंद्रा एंड महिंद्रा 656.45 840 28%
सिएट लि. 1132.75 1,370 21%
टीवीएस मोटर्स 493.95 576 16%
मारुति सुजुकी 7,114.50 8,131 14%
बजाज ऑटो 2,909 3,045 4.6%

 

सीमेंट: लागत घटना, दाम और मांग बढ़ना कंपनियों के लिए पॉजिटिव 

फरवरी में सीमेंट कंपनियों के शेयरों में तेज रिकवरी देखने को मिली। दरअसल, करीब एक साल से सीमेंट की मांग लगातार बनी हुई है। इससे कंपनियों को दाम बढ़ाने में मदद मिली। लेकिन दाम में बढ़ोतरी और बेमौसम की बारिश के चलते डिमांड थोड़ी कमजोर पड़ने लगी है। कंपनियों के साथ डीलर्स को भी उम्मीद है कि इस महीने से मांग में फिर तेजी आएगी। हाल के दिनों में दक्षिणी राज्यों में दाम 15%, पश्चिमी राज्यों में 8% बढ़े हैं। उत्तरी, मध्य और पूर्वी राज्यों में दाम में 2-3% बढ़ोतरी हुई है।

 

माना जा रहा है कि सीमेंट के दाम 10-25 रुपए और बढ़ सकते हैं। यह बढ़ोतरी इसी महीने हो सकती है। ऊंचे बेस के कारण मात्रा में सालाना बढ़ोतरी ज्यादा नहीं दिखेगी। लेकिन दाम बढ़ने के कारण सेल्स रेवेन्यू ठीक-ठाक बढ़ सकता है। हालांकि अब दाम में ज्यादा बढ़ोतरी की गुंजाइश नहीं लग रही है। क्रिसिल के अनुसार लागत घटने के साथ दाम और मांग बढ़ना सीमेंट कंपनियों के लिए पॉजिटिव है।

 
एसीसी में सबसे ज्यादा रिटर्न की गुंजाइश







कंपनी मौजूदा कीमत लक्ष्य रिटर्न
एसीसी 1,530.80 1,838 20%
जेके सीमेंट्स 745 825 11%
बिड़ला कॉर्प 535.10 590 10%
अल्ट्राटेक 3,963.85 4,368 10%
ग्रासिम इंड. 809 836 3.3%

(मौजूदा कीमत रुपए में, बीएसई पर)

 

-(यह आकलन मोतीलाल ओसवाल और रिलायंस सिक्युरिटीज का है। इसके आधार पर निवेश में नुकसान होने पर उसके लिए दैनिक भास्कर जिम्मेदार नहीं होगा।)





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment