International News

Banihal, terrorist behind blast identified himself as Owais Amin of Hizbul Mujhaideen | दो दिन पहले होने वाला था एक और पुलवामा, लेकिन आखिरी वक्त में बदल गया आतंकी का माइंड और ऐसे टल गया खतरा


नेशनल डेस्क, नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के बनिहाल में शनिवार की सुबह 10.30 बजे एक कार में ब्लास्ट हुआ था। पास से ही सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था। ब्लास्ट इतनी पास हुआ था कि सीआरपीएफ बस का पीछे साइड का कांच टूट गया। इसमें किसी तहर की जनहानि नहीं हुई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस ब्लास्ट को भी पुलवामा जैसा ही करने की साजिश थी, लेकिन आखिरी वक्त में अटैकर का माइंड चेंज हो गया और वो कार छोड़कर भाग गया।

– जी मीडिया के मुताबिक ये संभव है कि बनिहार में जो ब्लास्ट हुआ वो एक सुसाइड अटैक हो सकता है। सूत्रों के मुताबिक आखिरी वक्त में अटैकर का दिमाग चेंज हो गया। ये पुलवामा जैसा सुसाइड अटैक हो सकता था। आखिरी वक्त में अटैकर कार छोड़कर भाग गया, लेकिन कार जाकर सीआरपीएफ की बस से टकरा गई।

ड्राइवर की हुई पहचान : जिस कार में धमाका हुआ था उसकी और उसे चलाने वाले की पहचान हो गई है। कार चलाने वाले संदिग्ध का नाम ओवैस अमीन है, जो शोपियां का रहने वाला है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ओवैस ‘सी’ कैटेगरी का आतंकी है, उसने 5 अप्रैल 2018 को हिजबुल मुजाहिद्दीन ज्वॉइन किया।

पुलिस को मिला 2 पन्नों का सुसाइड नोट : ब्लास्ट की जांच कर रही जम्मू-कश्मीर पुलिस को दो पन्नों का सुसाइड नोट मिला है। नोट में उसने अपना नाम ओवैस अमीन बताया है। आतंकी ने नोट में लिखा है कि वह भारत से बदला लेना चाहता है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक सूसाइड नोट में लिखा है कि ‘मैंने सोच लिया है कि मैं अपने आप को बारूद से उड़ाकर उन भारतीयों से सब अत्याचारों का बदला लूंगा।’


-सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि ये प्लांटेड हो सकता है। पुलिस को ब्लास्ट वाली कार से दो एलपीजी सिलेंडर लगाए गए थे। इसके अलावा कार में पेट्रोल, जिलेटिन की छड़, जैरीकैन, यूरिया और सल्फर रखा था। प्रत्यक्षदर्शियों को मुताबिक उन्होंने जलती कार से एक संदिग्ध को उतरकर भागते हुए भी देखा था।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment