National News

A wall on both sides of the rail track from Delhi to Mumbai | दिल्ली से मुंबई तक 1386 किमी लंबे रेलमार्ग के दोनों तरफ बनेगी 1.6 मीटर ऊंची दीवार


  • प्रीकास्ट कॉन्क्रीट से तैयार की जाने वाली इस दीवार पर एक हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा
  • दिल्ली-मुंबई के बीच हाई स्पीड जोन बनाने की योजना पर काम कर रहा है रेलवे
  • ट्रैक पर मवेशियों के आ जाने से स्पीड कम करनी पड़ती थी, दीवार बनने से ऐसा नहीं होगा

रतलाम. रेलवे ने दिल्ली से मुंबई तक 1386 किमी लंबे मुख्य रेलमार्ग के दोनों तरफ 1.6 मीटर ऊंची दीवार बनाने का फैसला किया है। दीवार प्रीकास्ट कॉन्क्रीट की बनेगी, जिस पर करीब एक हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा। रतलाम डीआरएम आरएन सुनकर के मुताबिक, मंडल में दिल्ली-मुंबई मुख्य रेललाइन का हिस्सा नागदा से गोधरा तक है। इसकी लंबाई करीब 230 किमी है।

 

रेलवे बोर्ड से आदेश आने के बाद रेल मंडल ने बाउंड्रीवाल बनाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसका काम दाहोद से मार्च में शुरू हो जाएगा। 

 

हाईस्पीड जोन बनाने के लिए उठाया कदम

सुनकर के मुताबिक, रेलवे दिल्ली-मुंबई के बीच हाईस्पीड जोन बनाने की योजना पर काम कर रहा है। ट्रैक को दीवार से सुरक्षित करना उसी का हिस्सा है। यह लाइन दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र को जोड़ती है। इसमें मथुरा, कोटा, रतलाम, वडोदरा, सूरत मुख्य स्टेशन हैं। 

 

60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेंगी ट्रेनें

इस ट्रैक पर ट्रेनें अधिकतम 130 किलोमीटर प्रति घंटे और औसत 80 से 90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पर चल रही हैं। दीवार बनने से अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक इन्हें चलाया जा सकेगा। अभी ट्रैक पर मवेशियों के आ जाने से स्पीड कम करनी पड़ती थी, दीवार बनने से ऐसा नहीं होगा। वर्तमान में 72 एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेनें इस ट्रैक पर चल रही हैं।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.