37 Railway Stations Will Be Eco Smart | स्टेशन और पटरियों पर गंंदगी मिली तो स्टेशन से लेकर जोन अफसर तक होंगे जिम्मेदार

0
4


  • पहले चरण में देश के 37 स्टेशन 3 माह में बनाने होंगे ईको स्मार्ट
  • एनजीटी ने रेलवे को मार्च के अंत तक एक्शन प्लान सौंपने को कहा

जोधपुर (प्रवीण धींगरा). राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने रेलवे को स्टेशन और पटरियां साफ रखने के आदेश दिए हैं। इसके तहत पहले चरण में रेलवे को तीन महीने में देश के 37 स्टेशनों को ईको स्मार्ट बनाने होंगे। एनजीटी ने रेलवे से मार्च के आखिरी तक एक्शन प्लान और ऐसे अफसरों की सूची भी मांगी है, जिन पर स्टेशन और रेल पटरियों को स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी है।

 

आदेश में कहा गया है कि रेलवे पटरियों पर सुबह-सुबह लोगों के खुले में शौच जाने, ट्रेनों से पटरियों पर गंदगी गिरने, स्टेशनों पर ठोस कचरा निस्तारण के मामले में संजीदा नहीं हुआ तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। रेलवे ने एनजीटी के आदेश के बाद अपने 16 जोन में भाेपाल, जयपुर व रायपुर सहित देश के 37 स्टेशनों पर अगले तीन माह में असर दिखाने की रणनीति बनाई है। इन स्टेशनों पर भारतीय मानक ब्यूरो की ”र से तय एनवायरमेंट स्टैंडर्ड 14001 को हासिल करना होगा।   एनजीटी ने आदेश में रेलवे से कहा है कि पटरियों व रेलवे स्टेशनों को आम नागरिक की सेहत के अनुकूल बनाकर दिखाना होगा।  

 

ये होंगे जिम्मेदार अधिकारी

रेलवे ने स्टेशन स्तर पर स्टेशन डायरेक्टर, स्टेशन मैनेजर, मंडल स्तर पर एडीआरएम और जोन स्तर पर असिस्टेंट जनरल मैनेजर की जिम्मेदारी तय की है। वे रेलवे की ”र से बनाए गए एक्शन प्लान को लागू करवाएंगे, मॉनिटरिंग करेंगे।  

 

37 स्टेशनों में भोपाल, जबलपुर शामिल

जोधपुर, जयपुर, अजमेर, पुणे, नासिक, हावड़ा, सियालदाह, राजेन्द्र नगर टर्मिनल, धनबाद, भुवनेश्वर, विशाखापटनम, नई दिल्ली, वाराणसी, लखनऊ, कटरा, फिरोजपुर, इलाहाबाद, झांसी, आगरा, गुवाहाटी, कटिहार, रांची, दीघा, हुबली, मैसूर, चेन्नई, तिरुचिरापल्ली, त्रिवेंद्रम, सिकंदराबाद, विजयवाड़ा, कचेगुडा, बिलासपुर, रायपुर, जबलपुर, भोपाल, मुंबई सेंट्रल और वडोदरा।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here