हिंदी न्यूज़ – श्रीदेवी की अचानक मौत की वजह पूरा नहीं हो पाया जाह्नवी कपूर का ये सपना | Janhvi Kapoor was not able to fulfill this dream because of her mother sridevi death

0
3


श्रीदेवी की अचानक मौत की वजह पूरा नहीं हो पाया जाह्नवी कपूर का ये सपना

श्रीदेवी की परछाई हैं जाह्नवी कपूर.

News18Hindi

Updated: March 6, 2019, 5:34 AM IST

हर इंसान का सपना होता है कि वह अपनी मां की आंखों के सामने सफलता हासिल करे. लेकिन जाह्नवी कपूर का ये सपना पूरा नहीं हो पाया. उनकी डेब्यू फिल्म की रिलीज से पहले मां श्रीदेवी इस दुनिया से जा चुकी थीं. जाह्नवी की फिल्म ‘धड़क’ 20 जुलाई 2018 को रिलीज हुई थी. वहीं श्रीदेवी ने 24 फरवरी 2018 को ही इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. जाह्नवी कपूर ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘मां चाहती थीं कि मैं सैराट जैसी फिल्म से डेब्यू करूं. आज मैं उसी फिल्म की हिंदी रीमेक से डेब्यू कर रही हूं. लेकिन आज वो ये देखने के लिए मौजूद नहीं हैं.’

अचानक मां का जाना जाह्नवी के लिए एक बड़ा झटका था. लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अपना काम करती रहीं. फिल्म के प्रमोशन के दौरान कई बार ऐसा हुआ जब उनसे मां श्रीदेवी को लेकर सवाल किए गए. लेकिन जाह्नवी ने खुद को संभाला. कुछ मौकों पर वह भावुक हुईं. लेकिन जिस तरह उन्होंने खुद को खड़ा रखा वह तारीफ के काबिल है.

इस मुश्किल दौर में सौतेले भाई अर्जुन कपूर उनके लिए एक छत की तरह रहे. श्रीदेवी के जाने से जाह्नवी और खुशी की जिंदगी में जो कमी आई थी उसे अर्जुन ने एक सपोर्टिव भाई बनकर पूरा किया. क्योंकि अर्जुन कपूर खुद इस दर्द से गुजर चुके थे. अर्जुन ने भी अपने करियर और जिंदगी की नई शुरुआत से पहले ही मां मधु कपूर को अपनी डेब्यू फिल्म के रिलीज से पहले ही खो दिया था. अर्जुन की पहली फिल्म ‘इश्कजादे’ 11 मई 2012 को रिलीज हुई थी. उनकी मां मधु डेढ़ मीहने पहले यानी 25 मार्च 2012 को ही इस दुनिया से जा चुकी थीं.

यह भी पढ़ें:मां सोनाली बेंद्रे के कैंसर का पता चलते ही ये था बेटे रणवीर का पहला रिएक्शन

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

और भी देखें

Updated: February 23, 2019 04:19 AM ISTश्रीदेवी की LAST पार्टी का वीडियो, देखिए खूब झूमीं थीं बॉलीवुड की ‘चांदनी’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here