Home Health Tips मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने के होते है कई फायदे, जानिए इसका...

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने के होते है कई फायदे, जानिए इसका धार्मिक महत्‍व | why we fly kites during ‘Makar Sankranti, Know the Health Benefits

2
0


 मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने का धार्मिक महत्व-

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने का धार्मिक महत्व-

मान्यता है कि मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की परंपरा भगवान श्री राम के समय में शुरू हुई थी। तमिल की तन्दनानरामायण के मुताबिक, मकर संक्रांति के दिन ही श्री राम ने पतंग उड़ाई थी और वो पतंग इन्द्रलोक में चली गई थी।

Most Read :मकर संक्रांति पर तिल के पकवान और खिचड़ी खाने की है पराम्‍परा, जाने इसके फायदे

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने से सेहत को लाभ-

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने से सेहत को लाभ-

सूर्य उत्तरायण में जाने के कारण उससे न‍िकलने वाली सूर्य की किरणें मानव शरीर के ल‍िए औषधि का काम करती हैं। इसल‍िए पतंग उड़ाने के दौरान शरीर को लगातार सूर्य की रोशनी मिलती है। जिससे शरीर को विटामिन डी भी मिलता है, जो हड्डियों के ल‍िए बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही धूप से सर्दियों में होने वाली स्किन संबंधी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।

Most Read :मकर संक्रांति पर तिल के पकवान और खिचड़ी खाने की है पराम्‍परा, जाने इसके फायदे

तिल गुड़ खाने का भी है फायदा

तिल गुड़ खाने का भी है फायदा

मकर संक्रांति में उत्तर भारत में ठंड का समय रहता है। ऐसे में तिल-गुड़ का सेवन करने के बारे में विज्ञान भी कहता है। ऐसा करने पर शरीर को ऊर्जा मिलती है। जो सर्दी में शरीर की सुरक्षा के लिए मदद करता है।

मनुष्‍य की कार्यक्षमता बढ़ती है

मनुष्‍य की कार्यक्षमता बढ़ती है

पुराण और विज्ञान दोनों में सूर्य की उत्तरायण स्थिति का अधिक महत्व है। सूर्य के उत्तरायण होने पर दिन बड़ा होता है इससे मनुष्य की कार्य क्षमता में वृद्धि होती है। मानव प्रगति की ओर अग्रसर होता है। प्रकाश में वृद्धि के कारण मनुष्य की शक्ति में वृद्धि होती है।

Most Read : सर्दियों में तिल के लड्डू हैं सभी बीमारियों का रामबाण इलाज, जानें इसके आयुर्वेदिक फायदे

मकर संक्रांति के हैं और भी कई नाम

मकर संक्रांति के हैं और भी कई नाम

दक्षिण भारत में इस त्योहार को पोंगल के रूप में मनाया जाता है। उत्तर भारत में इसे लोहड़ी कहा जाता है। मध्यभारत में इसे संक्रांति कहा जाता है। मकर संक्रांति को उत्तरायण, माघी, खिचड़ी आदि नाम से भी जाना जाता है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.