Health Tips

खाएं घी लगी चुपड़ी-चुपड़ी रोटी, गिनते रह जाएंगे फायदे | Ghee On Your Chapattis. Yes or No?


कितना घी खाना चाह‍िए

कितना घी खाना चाह‍िए

रोज़ाना एक टीस्पून घी खाना ज़रूरी है। यह मानसिक व शारीरिक रूप से व्यक्ति को मज़बूत बनाता है और ये शरीर को डिटॉक्‍स करता है। घी में विटमिन के, डी, ई और ए पाया जाता है, जो ब्लड सेल में जमा कैल्शियम को हटाने का काम करता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है। यह इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाने में मदद करता है।

Most Read : दूध के साथ बासी रोटी मिलाकर खाएं और देंखे इसके चमत्‍कारी फायदे

कोलेस्ट्रॉल करें कम

कोलेस्ट्रॉल करें कम

घी से रक्त और आंतों में मौज़ूद कोलेस्ट्रॉल कम होता है क्योंकि इसमें बाइलरी लिपिड का स्राव बढ़ जाता है, जो शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को घटाता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए अपने आहार में गाय के घी को शामिल करें।

पाचन शक्ति बढ़ाएं

पाचन शक्ति बढ़ाएं

घी का स्मोकिंग पॉइंट दूसरे ऑयल व फैट की तुलना में बहुत अधिक होता है। यही कारण है कि पकाते समय यह आसानी से नहीं जलता और खूब धुआं भी करता है।

दिल के लिए फायदेमंद

दिल के लिए फायदेमंद

हार्ट में ब्लॉकेज होने पर देसी घी एक ल्यूब्रिकेंट की तरह काम करता है। जिसे हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाई खाने की मनाही है, वह गाय का घी खाए, इससे दिल मज़बूत होता है।

Most Read :रोजाना सुबह खाली पेट घी खाने से होते हैं ये ख़ास फायदे

Desi Ghee: How much in One Day? | जानें एक दिन में कितना देसी घी है आपके शरीर के लिए सही | Boldsky

वज़न को नियंत्रित रखता है

वज़न को नियंत्रित रखता है

देसी घी में सीएलए होता है, जो मेटाबॉलिज्म को सही रखता है। इससे वज़न कंट्रोल में रहता है। सीएलए इंसुलिन की मात्रा को कम रखता है, जिससे वज़न बढऩे और शुगर जैसी दिक्कतों का खतरा कम रहता है। अगर आप घी की जगह रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ऐसा न करें। रिफाइंड में पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड्स होता है, जो सेहत बिगाडऩे का काम करता है, इसलिए इसका सेवन बंद कर दें। रिफाइंड की जगह देसी घी का इस्तेमाल किया जा सकता है।





Source link

About the author

Non Author

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.